ठग गिरफ्तार :3 स्टार वर्दी पहनकर करता था ठगी , पहले बॉर्डर होमगार्ड में था जवान, सैलरी में खर्चा नहीं चला तो बना गया ठग....

ठग गिरफ्तार :3 स्टार वर्दी पहनकर करता था ठगी , पहले बॉर्डर होमगार्ड में था जवान, सैलरी में खर्चा नहीं चला तो बना गया ठग....
07
5
width="150px" 6m12c20d21 width="320px" 5m12c20d21 width="150px" 13m10c20d21s width="220px"

तीन स्टार वाली पुलिस की वर्दी पहनकर ठगी करने वाला फर्जी पुलिस इंस्पेक्टर अब सलाखों के पीछे है। प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि 10वीं कक्षा तक पढ़ा लिखा शातिर ठग कालूराम उर्फ राहुल शेखावत (35) श्रीगंगानगर में बॉर्डर होमगार्ड में जवान था। वह सरहद के पास आबकारी में निगरानी का काम करता था। शानो-शौकत की जिंदगी जीने के शौकीन राहुल का इतनी सी सैलरी से काम नहीं चलता था, इसलिए उसने ठगी कराने की योजना बनाई।

राहुल बॉर्डर होमगार्ड की वर्दी पहनता था। अफसरों से मिलता था। श्रीगंगानगर जिले में रावला कस्बे के 1 एसकेएम क्षेत्र में रहने वाले राहुल शेखावत ने वर्ष 2015 में गंगानगर में ही भोले भाले लोगों को नौकरी दिलवाने के नाम पर ठगना शुरू कर दिया। वर्ष 2019 तक राहुल के खिलाफ धोखाधड़ी के 21 मुकदमे दर्ज हो चुके थे।

श्रीगंगानगर के समीपवर्ती पंजाब के पुलिस थाने में दर्ज हुआ पहला ठगी का केस

डीसीपी ऋचा तोमर ने बताया कि राहुल के खिलाफ पहला मुकदमा श्रीगंगानगर के समीपवर्ती पंजाब में सदर कपूरथला में धोखाधड़ी का पहला मुकदमा दर्ज हुआ। यहीं सात और मुकदमे राहुल के खिलाफ दर्ज हुए। इनमें पंजाब पुलिस ने राहुल शेखावत को गिरफ्तार किया। इसके बाद जयपुर के शास्त्री नगर थाने में धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ। फिर चूरू में राजगढ़, श्रीगंगानगर में अनूपगढ़, रायसिंहनगर, समेजा कोठी, कोतवाली थाने में राहुल पर धोखाधड़ी कर रुपए हड़पने का केस हुआ।

नागौर जिले में कोतवाली, हरियाणा के हिसार सिटी थाने, जयपुर के मानसरोवर व झोटवाड़ा थानों में राहुल के खिलाफ केस दर्ज होते गए। इन मुकदमों में वह गिरफ्तार हुआ। ये सभी मुकदमे बेरोजगार लोगों को आबकारी, आर्मी और पुलिस में सरकारी नौकरी दिलवाने का झांसा देकर मोटी रकम हड़पने के थे। यही नहीं, रीट में भी नागौर के एक व्यक्ति को पास करवाने के एवज में 2 लाख रुपए वसूले और उसकी कार लेकर भाग निकला।

दो दिन पहले जयपुर में किराना व्यापारी की सूझबूझ से पकड़ा गया शातिर ठग

झोटवाड़ा में कमानी रोड पर व्यापारी मनीष रावत के यहां रिजर्व पुलिस लाइन में इंस्पेक्टर बनकर 15 लाख रुपए का किराना सामान खरीदने पहुंचा। तब व्यवसायी मनीष रावत की सूझबूझ की वजह से शातिर अंतरराज्यीय ठग राहुल झोटवाड़ा थाना पुलिस की गिरफ्त में आ गया। वह रिमांड पर चल रहा है। स्पेशल टीम के कांस्टेबल बलराम व मालीराम ने उसे जाल बिछाकर पकड़ा तब दोनों पुलिसकर्मियों पर भी खुद को एसीबी में पुलिस इंस्पेक्टर बताते हुए अंजाम बुरा होने की बात कहकर धमकाने लगा। जयपुर में राहुल शेखावत के दो महंगे फ्लैट होना सामने आया है, जिसकी जांच की जा रही है ।

प्रारंभिक पड़ताल में यह ठगी आई सामने
1. भंवरलाल निवासी नागौर से रीट का पेपर दिलवाने के नाम पर 50 हजार रुपए व 2 कार ठगी कर हड़पने की वारदात की।
2. कालुराम मीणा व अर्जुन मीणा से आबकारी में नौकरी लगवाने के नाम पर 50 हजार रुपए व एक स्विफ्ट गाड़ी ले रखी हैं।
3. सीताराम सैनी निवासी शाहपुरा से आबकारी में भर्ती करवाने के नाम पर 02 लाख रुपए की ठगी कर रखी हैं।
4. कर्मवीर निवासी राजगढ़ चूरू से आबकारी में भर्ती करवाने के नाम पर 20 हजार रुपए की ठगी कर रखी है।
5. चन्द्रकांत शर्मा निवासी कांटा चौराहा झोटवाडा से आबकारी में भर्ती करवाने के नाम पर 20 हजार रुपए की ठगी कर रखी है।

.

.

.

The fake police inspector who cheated wearing a three-star police uniform is now behind bars. In preliminary interrogation, it was revealed that the vicious thug Kaluram alias Rahul Shekhawat (35), who was educated till class 10th, was a jawan in the Border Home Guard in Sriganganagar. He used to work as surveillance in excise near the border. Rahul, fond of living a life of luxury, did not work with such a salary, so he planned to get cheated.

Rahul used to wear the uniform of Border Home Guard. Met the officers. Rahul Shekhawat, who lives in 1 SKM area of ​​Rawala town in Sriganganagar district, started duping gullible people in the name of getting jobs in Ganganagar in the year 2015 itself. Till the year 2019, 21 cases of fraud were registered against Rahul.


First fraud case registered in the police station of Punjab near Sriganganagar

DCP Richa Tomar said that the first case of cheating was registered against Rahul in Sadar Kapurthala in adjoining Punjab, Sri Ganganagar. Here seven more cases were registered against Rahul. In these, the Punjab Police arrested Rahul Shekhawat. After this, a case of fraud was registered at Shastri Nagar police station in Jaipur. Then Rajgarh in Churu, Anupgarh in Sriganganagar, Raisinghnagar, Sameja Kothi, Kotwali police station had a case of fraud and grabbing money.

Cases were registered against Rahul in Kotwali in Nagaur district, Hisar City police station in Haryana, Mansarovar and Jhotwara police stations in Jaipur. He was arrested in these cases. All these cases were about grabbing huge amount of money by promising unemployed people to get government jobs in Excise, Army and Police. Not only this, in Rite also, in lieu of getting a person from Nagaur passed, he collected Rs 2 lakh and fled with his car.


Vicious thug was caught two days ago in Jaipur due to the wisdom of a grocery trader

On Kamani Road in Jhotwara, businessman Manish Rawat reached the reserve police line to buy groceries worth Rs 15 lakh as an inspector. Then due to the understanding of businessman Manish Rawat, the vicious inter-state thug Rahul Jhotwara came in the custody of the police station. He is on remand. When constables Balram and Maliram of the special team caught him by laying a trap, then both the policemen also started threatening the policemen, saying that the result was bad, describing themselves as police inspectors in ACB. Two expensive flats of Rahul Shekhawat have come to light in Jaipur, which is being investigated.


This fraud came to the fore in the preliminary investigation
1. In the name of getting REET paper from Bhanwarlal resident Nagaur, he committed the incident of swindling 50 thousand rupees and 2 cars.
2. In the name of getting job in Excise from Kaluram Meena and Arjun Meena, 50 thousand rupees and a Swift car have been taken.
3. In the name of getting admitted in Excise from Shahpura resident of Sitaram Saini, has cheated Rs.02 lakh.
4. In the name of getting admitted in excise from Rajgarh Churu, resident of Karmaveer, has cheated 20 thousand rupees.
5. In the name of getting admitted in Excise from Kanta Chauraha Jhotwara, resident of Chandrakant Sharma has cheated 20 thousand rupees.