कॉलेज जा रही युवती से गैंगरेप, शिकायत की तो पुलिस ने पीड़िता को धमकाया; फिर SP से मदद मांगी, SHO सस्पेंड.....

कॉलेज जा रही युवती से गैंगरेप, शिकायत की तो पुलिस ने पीड़िता को धमकाया; फिर SP से मदद मांगी, SHO सस्पेंड.....
07 ..............................
5
width="300px" width="220px"

कॉलेज जा रही युवती से गैंगरेप, शिकायत की तो पुलिस ने पीड़िता को धमकाया; फिर SP से मदद मांगी, SHO सस्पेंड


भरतपुर में एक 19 साल की युवती से हुए गैंगरेप के मामले में उच्चैन थाना अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है। गैंगरेप पीड़िता जब आरोपियों की शिकायत करने थाने पहुंची तो उसे SHO श्रवण पाठक ने धमका कर वहां से रवाना कर दिया। इसके बाद पीड़िता SP देवेंद्र विश्नोई के पास पहुंची और पूरी घटना के बारे में बताया। इस पर एक्शन लेते हुए एसपी ने देर रात उच्चैन थाना अधिकारी को सस्पेंड कर दिया।

पीड़िता ने एसपी से शिकायत करते हुए बताया की 29 नवंबर को वह कॉलेज जा रही थी। तभी उसी के गांव के रहने वाले दो युवक हिम्मत और भगवान मोटरसाइकिल पर आए। सुनसान इलाके में दोनों ने लड़की का हाथ पकड़ा और उसका मुंह बंद कर उसे मोटरसाइकिल पर बैठा लिया। हिम्मत ने लड़की के मुंह पर कपड़ा लगाकर उसे बेहोश कर दिया और दोनों युवक लड़की को रूपवास थाना इलाके के जंगलों की तरफ ले गए। जहां उसके साथ दोनों ने दुष्कर्म किया।

जब पीड़िता ने दोनों का विरोध किया दोनों युवकों ने उसके साथ मारपीट की और धमकी दी की अगर वह किसी को इस घटना के बारे में बताएगी को वह उसके परिवार को जान से मार देंगे।

पीड़िता के परिजनों ने SHO श्रवण पाठक पर आरोप लगाया कि उन्होंने लड़की को धमकाया। मामला सामने आने के बाद SP ने उन्हें सस्पेंड कर दिया।

पुलिस ने रेप पीड़िता को थाने से भगाया
दोनों आरोपी दुष्कर्म के बाद पीड़िता को कॉलेज के पास ही छोड़ कर चले गए। पीड़िता ने अपने परिजनों को कुछ नहीं बताया। घटना के दूसरे दिन पीड़िता की सहेली उसके घर पहुंची और पीड़िता के परिजनों से उसके 29 तारिख को कॉलेज नहीं आने का कारण पूछा। इसके बाद पीड़िता ने पूरी घटना अपने परिजनों को बताई। इस पर पीड़िता के परिजनों ने 2 दिसंबर को उच्चैन थाने में जाकर आरोपियों के खिलाफ शिकायत दी लेकिन पीड़िता के परिजनों का कहना था कि उन्हें थाने से डरा धमका कर भगा दिया। दुष्कर्म के तीन दिन बाद भी जब पीड़िता का कोई मामला दर्ज नहीं किया गया तो परिजन एसपी के पास पहुंचे और कार्रवाई की मांग की।

पीड़िता की शिकायत पर एसपी का एक्शन
पीड़िता की शिकायत सुनने के बाद एसपी देवेंद्र विश्नोई ने तुरंत प्रभाव से उच्चैन थाना अधिकारी श्रवण पाठक को निलंबित कर दिया। निलंबन के समय तक श्रवण पाठक पुलिस लाइन में ही तैनात रहेंगे।