राजस्थान में एक साथ जयपुर में नौ लोगों के कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन की पुष्टी, सरकार हुई अलर्ट, पढ़ें गाइडलाइन......

राजस्थान में एक साथ जयपुर में नौ लोगों के कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन की पुष्टी, सरकार हुई अलर्ट, पढ़ें गाइडलाइन......
07 ..............................
5
width="300px" width="220px"

राजस्थान में एक साथ जयपुर में नौ लोगों के कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन की पुष्टी, सरकार हुई अलर्ट, पढ़ें गाइडलाइन......

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर में एक ही परिवार को नौ लोगों के कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन की पुष्टी हुई है। इसके बाद प्रदेश में कोरोना गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करने को कहा गया है।


Corona Guidelines in Rajasthan: राजस्थान में एक ही परिवार के नौ लोगों में के कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन की पुष्टी के बाद हड़कंप मचा हुआ है। इसके बाद देश में ओमिक्रोन से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 21 हो गई है। प्रदेश में एक साल नौ लोगों के इस खतरनाक वेरिएंट मिलने के बाद गहलोत सरकार अलर्ट हो गई है। राज्य में कोरोना गाइडलाइंस को सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए जा चुके हैं।


सख्ती से हो पालन
राजस्थान की अशोक गहलोत की सरकार की नई गाइडलाइन के मुताबिक कोविड-19 प्रोटोकॉल की सख्त पालना करनी होगी। इसमें वैक्सीनेशन के साथ-साथ मास्क का उपयोग बेहद जरूरी कर दिया गया है। इसके अलावा सेनिटाइजर का यूज करने और सोशल डिस्टेंसिंग का भी ख्याल रखने को कहा गया है।


स्कूल कॉलेज में भी सख्ती
गाइडलाइन के मुताबिक राज्य की यूनिवर्सिटी, कॉलेज और एक से बारहवीं तक के स्कूलों समेत सभी इंस्टीट्यूशंस में अब और सख्ती कर दी गई है। इसके तहत यूनिवर्सिटी, कॉलेज और स्कूल के टीचर्स और आम स्टाफ को वैक्सीन की दोनों डोज लगवाना जरूरी है। स्कूल या कॉलेज की बस में स्टाफ बैठक क्षमता के साथ ही अनुमत होंगे। अगर पेरेंट्स अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजना चाहते हैं तो उन पर किसी तरह का दबाव नहीं बनाया जाएगा। बच्चों की ऑनलाइन क्लासेज निरंतर चलती रहेंगी।


सभी की होगी स्क्रीनिंग
हाल ही में जारी की गई गाइडलाइंस के तहत स्कूल कॉलेज समेत सभी इंस्टीट्यूश्नल प्लेस पर स्टूडेंट्स और टीचर्स की स्क्रीनिंग की जाएगी। इसके बाद ही उन्हें कॉलेज और स्कूल में एंट्री मिलेगी। फेस मास्क के साथ ही अंदर प्रवेश दिया जाएगी। अगर किसी बच्चे के पास फेस मास्क नहीं है तो स्कूल की तरफ से मास्क उपलब्ध करवाया जाएगा। बैठने की व्यवस्था में दो गज की दूरी का ख्याल रखना अनिवार्य है। स्कूलों में प्रार्थना सभा और दूसरे आयोजन पर फिलहाल पाबंदी लगाई गई है।